Khatam Karona Hindi Lyrics – Emiway

Khatam Karona Hindi Lyrics: Emiway द्वारा Khatam Karona Hindi Lyrics, नवीनतम पंजाबी गीत है, जो Psyik द्वारा दिया गया है। खतम करोना गीत के बोल एमिअवे द्वारा लिखे गए हैं और वीडियो अंकित वर्मा द्वारा निर्देशित है।

Khatam Karona Hindi Lyrics - Emiway

Khatam Karona Hindi Lyrics by Emiway

हं मालुम है ना
ऐ द्वार रो कहो द्वार रो
एक दुसरे से

आ तइयार हे की ना जनता
घर बइठे बिटे मचाओ
बहार मट जौ गने सूनो
सनतयजर लगौ और सूनो

कोरोना वायरस नहीं
बेटा ये कर्म है
कोरोना वायरस नहीं
बेटा ये कर्म है
कोरोना वायरस नहीं
बेटा ये कर्म है
कर्म है, कर्म है
ऐ हन

सबहि देहवासियन को
जनता कर्फ्यू का पलन कर रही है

हन कोरोना वायरस नहि
बेटा ये कर्म है
धरती का गुसा है
सबको हाय डरना है
आब से नहि करैत प्रथ्वी को गन्दा
सब कछ छोड के अब घर बैठा बांदा
चल बेटा बन जा नागी
इंतेज़ार है हमसे तहरीक की
कब होगे सोही?
जब हो सोही
सब के जुबान पे एक ही साला है ना
घर बैठै भूलभुलैया करो
क्यूं करै मंद मंद का देही
बिमारी फइलगा नहीं
बुलाओ करो बात करो अग्ली को मिस करो
प्रसिद्ध होन का एक मात्र को करू
कु भीख करौ घर घर बइठो
चुंबन करो मम्मी aur पिताजी ko
कहम करो इच्छा करो
ऐ बहार नहीं तो जाने का लाठी बार रीले
पुलिस को सलाम है कर्तव्य निभा रीले
डॉक्टर लॉग जिंदगी जिंदगी बकले री
तुम क्यूं मेरा रेले हैं!

दुनिआ कोइ इंसां न गंद कर डला
हाउस अरेस्ट पे सब गुसा है ऊपर वाला

तू कुच्छ भी क्यूँ है रा
खने को हलवा गजर है
ज़मीन से निकलेला फल है
हर चीज मेरे दिल में बसती है
इंसाँ हाय बन गया भूत है
आपस में लादे रे जाटी और धरम पे
भूल गइले इन इन्सानियत हैवान बन
भरोसो बाछा नहि बिमान बान
दोन दन दूनिया मे म्हणौवन हम हैं
आचे जेने का, जाणे का, खाए का, पीना का
किसि से कुच्छ भइ नहि लिने का
दिल खोल के दोने में का पगार
दोसरो का कहे तू मारेगा डकार
खुद को सुधर मतलबी दुनीया से
मत्त ले उदर बड़गे विचर
दाल चवल अचर कहे तू खुश रह
रस्ते मे किन्नर भी कायाको तुम थूक रे
चुप रे, कुत्रे आपस में लूट रे
सबको सलाह डूंगा
जलदी से सुधरे, आह

सबहि देहवासियन को
जनता कर्फ्यू का पलन पलन पलान में

हं ह्वा हो रा सैफ, पनी हो रा सैफ मल्लिक इन्सान को कर देना मैफ
अब से न दोरना पुरानी हरकतें
फेर से ना मिलेगा माका इन्सान को
सब साधक मिलन सब हैवन को
चालो मिलके खतम करीं कीतनु को
घर पे कहो एक ही वर है
दुनिआ को बचाने हम ही सिपाही हैं
क्या

कारोना से दारो ना
घर बइठो अउ खतम करौना
सबहि देहवासियन को
जनता कर्फ्यू का पलन कर रही है

Updated: 31/03/2020 — 19:25