Best 50+ Jija Sali Ki Shayari in Hindi | जीजा साली की शायरी

Jija Sali Ki Shayari in Hindi, जीजा साली की शायरी, jija sali shayari, jija sali romantic shayari, Sali Ke Liye Shayari

Jija Sali Ki Shayari in Hindi – जीजा साली की शायरी: हेलो दोस्तों कैसे है आप ? उम्मीद करता हु की सब लोग मजे में है और जिंदगी का फुल मजा ले रहे है। दोस्तों एक बार फिर आपके साथ कुछ “Jija Sali Ki Shayari in Hindi – जीजा साली की शायरी” या कहे के साली के लिए कुछ धमाकेदार शायरी शयेर करने जा रहा हु।

दोस्तों, जैसा की हम जानते है की साली और जीजा का रिश्ता अलग ही होता है। इस रिश्ते में प्यार, लगाव और छेड़ – छाड़ भरा हुवा रहता है। आपकी भी अगर एक प्यारी से साली है तो कसम से आप बहुत किश्मत वाले है। तो इसी लिए इस पोस्ट में हम कुछ Jija Sali Ki Shayari in Hindi – जीजा साली की शायरी आपको provide कर रहे है जिन्हे आप अपनी साली को sms या व्हाट्सप्प कर सकते है।

Sali Ke Liye Shayari – जीजा साली शायरी बेस्ट कलेक्शन

Sali Ke Liye Shayari
Sali Ke Liye Shayari

दोस्तों, अगर ससुराल में साली न हो तो वहा पर मन लगाना बड़ा मुश्किल हो जाता है। अगर आपके ससुराल में साली है तो फिर क्या कहने और जिन भाइयो की नहीं है भगवान करे की उनको भी मिल जाए। चलिए कुछ Jija Sali Ki Shayari in Hindi | जीजा साली की शायरी पढते है।

खोल कर खिड़की बैठी थी साली,
ताज़ी हवा खाने के लिए ।
हम भी हो गए सामने,
आँखों की प्यास बुझाने के लिए ।

मेरी आँखें नहीं,
मस्ती के मैख़ाने हैं,
छलकते इस में,
प्यार के पैमाने हैं ।
जब निकलती हूं,
सुरमा डाल कर जीजा,
मुझ पर मरते कई दीवाने हैं ।

डर लगता है जीजा जी
क्यों आप हैं उदास ।
दूर करूंगी ग़म आपका ,
आ जाइए मेरे पास

खत लिख रही हूं प्रेम से ,
दीदार करूंगी ।
हर जन्म में जीजा ,
तुझ से प्यार करूंगी ।

देख कर तुम्हारा लाल गुलाबी चेहरा ,
भंवरा धोखा खाए ।
साली की नज़रों का मारा ,
पानी मांग न पाए ।

जीजा जी दिल करता है ,
रहूं मैं तुम्हारे संग ।
खिली रहे यह सदा जवानी ,
चढ़ा रहे यह रंग

तेरी याद आती हैं साली,
जब भी दिखती है मुझे मेरी घरवाली,
याद दिलाती है तेरे होंठो की,
उसके होठों की लाली…

Sali Ke Liye Shayari

घर से निकलना मुश्किल हो गया मेरा,
लोग चिढ़ाते हैं नाम ले ले के तेरा,
मै हूँ तुम्हारी छोटी साली,
मुझे प्यार न करोगों तो क्या बिगड़ेगा तेरा.

हुस्न तो दिया ऐ खुदा तुमने,
हाय इस काली जुल्फों वाली को,
काश तुमने दिया होता दिल भी,
हमारी इस प्यारी से साली को…

पत्नी केवल अर्द्धांगिन है
साली सर्वांगिण होती है,
पत्नी तो रोती ही रहती
साली बिखेरती मोती है।
साला भी गहरे में जाकर
अक्सर पतवार फेंक देता
साली जीजा जी की नैया
खेती है, नहीं डुबोती है।

हर किसी का दिल धड़कता हैं देखके साली,
दिल की तमन्ना होती हैं काश ये होती दूसरी घरवाली…

एक बार तूं हँस दे जीजा ,
सच कहती हूं लुट जाऊंगी ।
आज की सारी रात जीजा ,
तेरी मैं बन जाऊंगी

मेरी चार – चार हैं , सालियां ,
कानों में उनके झूमती बालियां ।
यदि छेड़ मैं एक को ,
सब मिलकर देती गालियां

क्या करूं कुछ भी कहा जाता नहीं ।
बिन साली के अब रहा जाता नहीं ।

सुनो प्राण प्यारी साली जी ,
जिस दिन की छुट्टी पाऊंगा ।
झट – पट पास तेरे मैं आ के ,
सीने से लगाऊंगा ।

सच कहती हूं जीजा जी ,
सुन लो एक सवाल ।
अपनी बाँहों में जीजा जी ,
मुझे लो सम्भाल

ख़त भरा प्यार का ,
भेजू किसके पास ।
दिल करता है मिलने को जीजा ,
तेरी साली बड़ी उदास

भर के बाँहों में चूम लूं मैं ,
गोरी गालों की लाली को ।
ओ लोगो ! क्यों देख रहे हो ,
मेरी प्यारी साली को ॥

तुम्हें पा कर ,
दुनिया में हमने सब कुछ पा लिया ।
अब हमें क्या चाहिए साली जी ,
जब तुमने है अपना लिया

देश – विदेश में घूमा हूं ,
घूमा कई शहर बाज़ार ।
तेरी जैसी सुन्दर साली ,
नहीं मिली बीच संसार ।

कब से तड़प रही जीजा जी ,
अब और मुझे तड़पाओ न ।
अगर दिल की आग बुझा नहीं सकते ,
और तुम आग लगाओ न

विरहिन पत्नी को साली ही
पी का संदेश सुनाती है,
भोंदू पत्नी को साली ही
करना शिकार सिखलाती है।
दम्पति में अगर तनाव
रूस-अमरीका जैसा हो जाए,
तो साली ही नेहरू बनकर
भटकों को राह दिखाती है।

चले भी आओं कि हम तुमसे प्यार करते हैं,
तुम्हारे आने का हम इंतजार करते हैं,
कौन कहता है कि तुम्हें मैंने भुला रखा है,
तुम्हारी यादों को कलेजे से लगा रखा हैं…

साली है पायल की छम-छम
साली है चम-चम तारा-सी,
साली है बुलबुल-सी चुलबुल
साली है चंचल पारा-सी ।
यदि इन उपमाओं से भी कुछ
पहचान नहीं हो पाए तो,
हर रोग दूर करने वाली
साली है अमृतधारा-सी।

बजती नहीं है एक हाथ से ताली,
अच्छी लगती नहीं मुझे घरवाली,
गोरे गालों पे रंग लगाने को,
अच्छी लगती है तो बस साली।

साली तो रस की प्याली है
साली क्या है रसगुल्ला है,
साली तो मधुर मलाई-सी
अथवा रबड़ी का कुल्ला है।
पत्नी तो सख्त छुहारा है
हरदम सिकुड़ी ही रहती है
साली है फाँक संतरे की
जो कुछ है खुल्लमखुल्ला है।

चढ़ी हो जवानी अगर साली की,
मुश्किल हो जाती है जीजाजी की,
हकीम हो अगर कोई नाजनीना,
दर्द और मिल जाता है बीमारों को…

साली चटनी पोदीने की
बातों की चाट जगाती है,
साली है दिल्ली का लड्डू
देखो तो भूख बढ़ाती है।
साली है मथुरा की खुरचन
रस में लिपटी ही आती है,
साली है आलू का पापड़
छूते ही शोर मचाती है।

हाय टकरा गया साली से,
चेहरे पर बहार आ जाती है,
जब साली हाथ बढ़ाती है,
बीबी अपनी जल जाती है…

साली ईज़ ऑल्वेज़ अ ब्यूटी, वाइफ ईज़ ऑल्वेज़ अ ड्यूटी
साली ईज़ ऑल्वेज़ अ पॅशन, वाइफ ईज़ ऑल्वेज़ अ टेंसन
साली ईज़ ऑल्वेज़ अ पटाखा, वाइफ ईज़ ऑल्वेज़ अ शयप्पा
साली ईज़ ऑल्वेज़ अ कूल, वाइफ ईज़ ऑल्वेज़ अ फूल

यह भी पढ़िए : नया हिंदी स्टेटस Attitude

गम को भुलाकर हमने उन्हें पाया है,
साली जी तुमको हमने गले लगाया है,
बहारों के बिच ये कैसी है तन्हाई
खुश है कि तेरे आने का संदेश कोई लाया है….

तेरा मतवाला हुस्न देख,
दिल मेरा धड़कता है साली
फिर भी ये तमन्ना है बाकि,
बनजा मेरी दूसरी घरवाली …

यह भी पढ़िए : कुछ पुरानी यादें शायरी | खूबसूरत यादें शायरी

तो दोस्तों ये थी आपके के लिए Jija Sali Ki Shayari in Hindi | जीजा साली की शायरी आप को बहुत ही पसंद आयी होंगी तो दोस्तों शेयर करिये जी भर के और कमेंट में हमें जरूर बताइये आप को शायरी कितनी पसंद आयी।